Breaking

18 December, 2018

Terrorism essay in hindi | Terrorism in hindi - aatankwad क्या होता है?

Terrorism essay in hindi क्या आप जानते है की aatankwad क्या होता हैwhat is aatankwad? दोस्तों आप सभी को मै आज बताने वाला हूँ terrorism in hindi. के बारे में की आज कैसे आतंकवाद फ़ैल रहा है तो चलिए शुरू करते है की आतंकवादकिसे कहते है.

Terrorism essay in hindi.

मनुष्य भय से निष्क्रिय और पलायनवादी बन जाता है! इसीलिए लोगों में भय उत्पन्न करके कुछ असामाजिक तत्व अपने नीच स्वार्थों की पूर्ति करने का प्रयास करने लगते हैं! इस कार्य के लिए वे हिंसापूर्ण साधनों का प्रयोग करते हैं! ऐसी स्थितियां हींआतंकवाद का आधार है! आतंक फैलाने वाले आतंकवादी कहलाते हैं! यह कहीं से बन कर नहीं आते! यह भी समाज के एक ऐसे अंग है! जिनका काम आतंकवाद के माध्यम से किसी धर्मसमाज अथवा राजनीति का समर्थन कर आना होता है! शासन का विरोध करने में बिल्कुल नहीं हिचकते तथा जनता को अपनी बात मनवाने के लिए रिवर्स करते रहते हैं!
Terrorism essay in hindi | Terrorism in hindi.
आतंक + वाद’  से बने इस शब्द का सामान्य अर्थ है-- आतंक का सिद्धांत! यह अंग्रेजी के टेररिज्म शब्द का हिंदी रूपांतरण है! ‘आतंक’ का अर्थ होता है-- पीड़ाडरआशंका! इस प्रकार आतंकवाद एक ऐसी विचारधारा हैजो अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए बल प्रयोग में विश्वास रखती है! ऐसा बल प्रयोग प्रयायः विरोधी वर्गसमुदाय या संप्रदाय को भयभीत करने और उस पर अपनी प्रभुत्व स्थापित करने की दृष्टि से किया जाता है! आतंक,मौतत्रास ही इनके लिए सब कुछ होता है! आतंकवाद नहीं जानते हैं कि--



 कौन कहता है की मौत को अंजाम होना चाहिए !
 जिंदगी को जिंदगी का पैगाम होना चाहिए!!

Aatankwad ki samasya - hindi aatankwad ki samasya essay.

आज लगभग समस्त विश्व में आतंकवाद सक्रिय है! आतंकवादी समस्त विश्व में राजनीतिक स्वार्थों की पूर्ति के लिए सार्वजनिक हिंसा और हत्याओं का सहारा ले रहे हैं! भौतिक दृष्टि से विकसित देशों में तो आंतकवाद इस प्रवृत्ति से विकराल रूप ले लिया है! कुछ आतंकवादी गुटोंने तो अपने अंतरराष्ट्रीय संगठन बना लिया है! जे०सी० स्मिथ अपनी बहु चर्चित पुस्तक ‘लीगल कंट्रोल आफ इंटरनेशनल टेररिज्म’ में लिखते हैं की इस समय संसार में जैसा तनावपूर्ण वातावरण बना हुआ हैउसको देखते हुए यह कहा जा सकता है कि भविष्य में अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद में और तेजी आएगी! किसी देश द्वारा अन्य देश मैं आंतकवाद गुटों को समर्थन देने की घटनाएं बढ़ेगीराजनीति को की हत्याएंविमान अपहरण की घटनाएं बढ़ेगी और रसायनिक हथियारों का प्रयोग अधिक तेज होगा! श्रीलंका में तमिलोंजापान में रेड आर्मीभारत में- होमलैंड और स्वतंत्र कश्मीर चाहने वालो आदि के हिंसात्मक संघर्ष आंतकवाद की श्रेणी में आते हैं!

Terrorism in india in hindi.

स्वाधीनता के पश्चात भारत के विभिन्न भागों में आंतकवादी संगठनों द्वारा आंतकवादी हिंसा फैलाई गई! इन्होंने बड़े बड़े सरकारी अधिकारियों की मौत के घाट उतार दिया और इतना आतंक फैलाया की उनके अधिकारियों ने सेवा से त्यागपत्र दे दिए! भारत के पूर्वी राज्य नागालैंडमिजोरममणिपुरत्रिपुरामेघालयअरुणाचल और असोम में भी अनेक बार उग्रवादी हिंसा फैलीकिंतु अब यहां असम के बोडो आंतकवाद को छोड़कर शेष सभी शांत है! बंगाल के नक्सलबाड़ी से जो नक्सलवादी आंतकवाद पनप थावह बंगाल से बाहर भी खूब फैला! बिहार तथा आंध्र प्रदेश अभी भी उसकी भयंकर आग से झुलस रहे हैं!
कश्मीर घाटी में भी पाकिस्तानी तत्वों द्वारा प्रेरित आंतकवाद प्रयास राष्ट्रीय पर्व ( 15 अगस्त, 26 जनवरी, 2 अक्टूबर आदि ) पर भयंकर हत्याकांड कर अपने अस्तित्व की घोषणा करते रहते हैं! इन्होंने कश्मीर की सुकोमल घाटी को अपनी आंतकवादी गतिविधियों का केंद्र बनाया हुआ है! आए दिन निर्दोष लोगों की हत्याएं की जा रही है और उन्हें आतंकित किया जा रहा हैजिसमें वे अपने घरदुकानें और छोड़ कर भाग खड़े हो! ऐसा कोई दिन नहीं बीतता जिस दिन समाचार पत्रों में किसी आंतकवादी घटना में लोगों के मारे जाने की खबर ना छपी हो! आंतकवादी गतिविधियों में सबसे भयंकर रहा पंजाब का आंतकवाद! बीसवीं शताब्दी की नवी शताब्दी में पंजाब में जो कुछ हुआउससे पूरा देश विक्षुब्ध और हतप्रभ रह गया!
पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित सीमा पार श्री कश्मीर और अब देश के अन्य भागों में बरपायी जाने वाली और दिल दहला देने वाली घटना है आंतकवाद का सबसे घिनौनी रूप है! सीमा पार के आंतकवादी हमलों में अब तक 100000 से भी अधिक लोगों की जानें जा चुकी है हाल के वर्षों में संसद पर हमला हुआइंडियन एयरलाइंस के विभाग 814 का अपहरण कर उसे कंधार ले जाया गयाफिर चिट्ठी सिंहपुरा में सीखो का कत्लेआम किया गया! तथा अमरनाथ यात्रियों पर हमले किए गए!

Terrorism in the world / आतंकवाद की जिम्मेदार कौन?.

आतंकवादी गतिविधियों को गुप्त और अप्रत्यक्ष रूप से प्रश्रय देने वाला अमेरिका भी अनंतः अपने खुदे हुए गड्ढे में ही गिर गया! राजनैतिक मुखौटो मैं छिपी उसकी काली करतूत अविश्वसनीय रूप से उजागर हो गई जब उसके प्रसिद्ध शहर न्यूयॉर्क में 11 सितंबर, 2001 को ‘वर्ल्ड ट्रेड टावर’ पर आंतकवादी हमला हुआ! अन्य देशों पर हमले करवाने में अग्रगण्य इस देश पर हुए इस वज्रपात पर सारा संसार अचंभित रह गया! ‘ओसामा बिन लादेन’ नमक हमले के उत्तरदाई आंतकवादी को ढूंढने में अमेरिकी सरकार ने जो सरगर्मियां दिखाइए उसने सिद्ध कर दिया कि जब तक कोई देश स्वयं पीड़ा नहीं चलता है तब तक उसे पराए की पीड़ा का अनुभव नहीं हो सकता! भारत वर्षों से शिक्षित कर सारे विश्व के सामने यह अनुरोध करता आया था कि पाकिस्तान अमेरिका द्वारा दी गई आर्थिक और अर्थशास्त्र संबंधित सहायता का उपयोग भारत के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए रहा हैअतः अमेरिका पाकिस्तान को आंतकवादी राष्ट्र घोषित करें और उसे किसी भी किस्म की सहायता बिना बंद करेंभारतीय के मारे जाने से अमेरिकी राष्ट्रीय अध्यक्ष हो या देश का कोई नुकसान नहीं होतालेकिन पाकिस्तान का पोषण करते रहने से समस्त दक्षिण एशियाई क्षेत्र पर दृष्टि रखने के लिए एक सैन्य क्षेत्र अवश्य मिला है!

आतंकवाद के प्रकार / types of terrorism.

भारत के आतंकवादी गतिविधि निरोधक कानून 1985 में आंतकवाद पर विस्तार से विचार किया गया है और आंतकवाद को तीन भागों में बांटा गया है:-

1. समाज के वर्ग विशेष को अन्य वर्गों में अलग-थलग करने और समाज के विभिन्न वर्गों के बीच आपसी सौहार्द को खत्म करने के लिए की गई हिंसा!
2. ऐसा कोई कार्यजिसमे ज्वलनशीलबम तथा अग्नि अस्त्रोंयस्त्रो का प्रयोग किया गया हो!
3. एसी हिंसात्मक कार्यवाहीजिसमें या उससे अधिक व्यक्ति मारे गए हो या घायल हुए होआवश्यक सेवाओं पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा तथा संपत्ति को हानि पहुंची हो! इसके अंतर्गत प्रमुख व्यक्तियों का अपहरण हत्या या उन्हें छोड़ने के लिए सरकार किसान ने उचित अनुमति मांगे रखनावायुयान का अपहरणबैंक डकैती आदि सम्मिलित है!



आतंकवाद का समाधान / terrorism solution.

भारत में विषमतम स्थिति तक पहुंचे आंतकवाद कि समाधान पर संपूर्ण देश के विचारको और चिंतको ने अनेक सुझाव रखेकिंतु यह समस्या अभी भी अनसुलझी ही है!
इस समस्या का वास्तविक हल ढूंढने के लिए सर्वप्रथम यह आवश्यक है कि संप्रदायिकता का लाभ उठाने वाले सभी राजनीतिक दलों की गतिविधियां में परिवर्तन हो! संप्रदायिकता के इस दोष से आज भारत के सभी राजनीतिक दल न्युन्धिक रूप में दूषित अवश्य है!
दूसरेसीमा पार से प्रशिक्षित आंतकवादीयो के प्रवेश और वहां से भेजे जाने वाले हथियारों व विस्फोटक पदार्थों पर चौकसी रखनी होगी तथा सुरक्षा बालों को आतंकवादियों की अपेक्षा अधिक अत्याधुनिक अर्थशास्त्र लैस करना होगा!
तीसरीआंतकवाद को महिमामंडित करने वाली युवकों को मानसिक बदलने के लिए आर्थिक सुधार करने होंगे!
चौथेराष्ट्र की मुख्यधारा के अंतर्गत संविधान का पूर्णतः पालन करते हुए पारस्परिक विचार-विमर्श सिक्खोंकश्मीरियों और असमिया की मांग का न्यायोचित समाधान करना होगा और तुष्टीकरण की नीति को त्याग कर समग्र राष्ट्र एवं राष्ट्रीयता की भावना को जागृत करना होगा!
पांचवें कश्मीर के अंत के बाद को दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर सकती से कुचलना होगा! इसके लिए सभी राजनीतिक दलों को सार्थक पहल करनी होगी! यदि संबंधित पक्ष इन बातों का ईमानदारी से पालन करें तो इस रोग से मुक्त संभव है!

उपसंहार / terrorism in hindi.

यह एक विडंबना ही है कि महावीरबुधगुरु नानक और महात्मा गांधी जैसे महापुरुषों की जन्मभूमि पिछले कुछ दशकों से सबसे अधिक अशांत हो गई है! देश की 130 करोड़ जनता हिंशा की सत्ता को स्वीकार करते हुए इसे अपने दैनिक जीवन का अंग मान लिया है! भारत के विभिन्न भागों में हो रही आतंकवादी गतिविधियों ने देश के एकता और अखंडता के लिए संकट उत्पन्न कर दिया है! आतंकवाद का समूल नाश ही इस समस्या का समाधान है! टाडा के स्थान पर भारत सरकार द्वारा एक नया आतंकवाद निरोधक कानून पोटा लाया गया जिसे दूसरी सरकार ने यह कहते हुए की ये सख्त और व्यापक कानून आंतकवाद को समाप्त करने की गारंटी नहीं हैइन्हें समाप्त कर दिया! आतंकवाद पर संपूर्णता से अंकुश लगाने की इच्छुक सरकार को अपने उस प्रशासनिक तंत्र को भी बदलने पर विचार करना चाहिएजो इन कानूनों पर अमल नहीं करता हैतब ही इस समस्या का स्थाई समाधान निकल पाएगा!

Terrorism essay in hindi आतंकवाद पर निबंध. दोस्तों उम्मीद करता हु की आप सभी को अच्छे से समझ आया होगा की आतंकवाद kya होता है और आतंकवाद के कारण क्या है आतंकवाद के समाधान kya है तो दोस्तों अगर आपको कोई समस्या आता है तो हमें निचे comment करके बताइए और कुछ पूछना है तो पुच सकते है मिलते है अगले post में अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद्!

No comments: